एमएसएमई विकास कार्यालय पटना द्वारा आयोजित सीपीएसई स्तर विक्रेता विकास कार्यक्रम सह औद्योगिक प्रदर्शनी का हुआ समापन

द्वितीय दिवस में इंडियन ऑइल कार्यक्रम में 150 से अधिक एमएसएमई प्रतिभागियों ने लिया भाग

पटना:भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के अंतर्गत एमएसएमई–विकास कार्यालय, पटना द्वारा पूर्व मध्य रेलवे, हाजीपुर के साथ संयुक्त रूप से पूर्व मध्य रेलवे मुख्यालय, रेल मंत्रालय, भारत सरकार, हाजीपुर के सभागार में दो दिवसीय ( 19 एवं 20.12.2023) बिहार राज्य के उद्योग संघों, चैम्बर्स एवं समीपवर्ती जिले में कार्यरत उद्यमियों के सहयोग से सीपीएसई स्तर विक्रेता विकास कार्यक्रम सह औद्योगिक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के दूसरे दिन बुधवार (20.12.2023) को एमएसएमई उद्यमियों के लिए जेम की प्रक्रिया, खादी गमोद्योग, सिडबी की एमएसएमई उद्यमियों के सबंधित योजनायें, उद्योग विभाग, बिहार सरकार की के योजनायें, लीड बैंक की योजनाएँ विषय पर सत्र का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में संजीव कुमार रॉय, प्रधान मुख्य सामाग्री प्रबन्धक, व्हील प्लांट, बेला सम्मलित हुएI कार्यक्रम की अध्यक्षता कार्यालय के निदेशक प्रदीप कुमार, आई॰ई॰डी॰एस॰ द्वारा की गई I

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप सिडबी, पटना के उप – महाप्रबंधक प्रदीप झा, डिक्की बिहार चैप्टर के अध्यक्ष कैप. सत्य प्रकाश, डब्लूईसीएस, पटना की उपाध्यक्ष इला मित्तल, बिहार महिला उद्योग संघ की कोषाध्यक्ष साधना झा, इंडियन ऑइल कार्पोरेशन लिमिटेड, बरौनी, पावरग्रिड, पटना, व्हील प्लांट, बेला के वरिष्ठ अधिकारिगण, अन्य संबन्धित राज्य सरकार, केंद्र सरकार l, बैंक, उद्योग संघो इत्यादि के वरिष्ठ अधिकारिगण की गरिमामय उपस्थिती व सहभागिता रहीI

कार्यक्रम के समापन समारोह को संबोधित करते हुए संजीव कुमार रॉय, प्रधान मुख्य सामाग्री प्रबन्धक, व्हील प्लांट, बेला बिहार राज्य के एमएसएमई उद्यमियों के लिए कार्यक्रम को लाभकारी बताया एवं वर्तमान वैश्विक परिस्थिति में प्रतिस्पर्धा में अपने को सक्षम बनाने हेतु एक कदम बताया।

कार्यक्रम के उदघाटन सत्र को संबोधित करते हुए कार्यालय के निदेशक प्रदीप कुमार ने कहा कि एमएसएमई के विपणन के आवश्यकता को देखते हुई पीएमएस योजना बहुत ही लाभकारी साबित होगी जो उनके विनिर्मित अथवा प्रदान की गई सेवा के मार्केटिंग हेतु एक मौका देगा जिसमे स्टॉल चार्जेस के व्यय को विभाग द्वारा प्रतिपूर्ति की जाएगी। उन्होंने आगे भी हर संभव कार्यालय द्वारा सहायता देने की बात कही। साथ ही उन्होंने इस योजना के अन्य कंपोनेंट्स के बारे में भी विस्तार से बताया एवं इस योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में आयोजित तीन सफल औद्योगिक एक्सपो के सितंबर ,दिसंबर 2022 व फ़रवरी 2023 के बारे में बताया।

कार्यक्रम के समापन समारोह के पश्चात, संजीव कुमार रॉय, प्रधान मुख्य सामाग्री प्रबन्धक, व्हील प्लांट, बेला महोदय के द्वारा, इस अवसर पर लगाए गए औद्योगिक प्रदर्शनी का निरीक्षण किया गया, जिसमें केंद्र सरकार के विभिन्न उपक्रमों द्वारा भाग लिया गया एवं उनके द्वारा जरूरी प्रोडक्ट्स को प्रदर्शित किया गया।

कार्यक्रम के आज के द्वितीय दिवस में , इंडियन ऑइल कार्यक्रम में 150 से अधिक एमएसएमई प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संयोजन, समन्वयन, संचालन एवं पीएमएस योजना के ऊपर प्रस्तुतिकरण कार्यालय के सहायक निदेशक, सम्राट एम. झा, आई॰ई॰डी॰एस॰ द्वारा किया गया।

कार्याक्रम का मुख्य उद्देश्य एमएसएमई मंत्रालय द्वारा एमएसएमई इकाईयों को नए बाजार सुविधा, नए बाजार श्रृजन, पब्लिक प्रॉक्यूरमेंट पॉलिसी 2012 के बारे में जागरूकता, विभिन्न सीपीएसई / केंद्र सरकार के कार्यालयों के वेंडर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के बारे मे जागरूकता, बेहतर पैकेजिंग, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार में नवीनतम चलन, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी में भाग लेना, जेड प्रमाण, स्फूर्ति योजना, क्लस्टर विकास योजना, इत्यादि के बारे में वृहद रुप से जागरुक करना था।

Related posts