बाढ़ विधान सभा का बदलेगा नजारा ? कोविड जागरूकता के बहाने राजद नेत्री मधु सिंह ने दिखाई अपनी ताकत

राजद नेत्री मधु सिंह ने आज बाढ़ मे कोविड-19 जागरूकता अभियान का आयोजन किया। कार्यक्रम का शुभारंभ उन्होंने अपने पैतृक गांव रामनगर दियारा में कुल देवता की पूजा के साथ प्रारंभ किया। रामनगर दियारा में उत्सव की तरह माहौल था और लोग अपने गांव की बहू के साथ इस अभियान में जबरदस्त भीड़ के साथ शामिल थे।

स्थानीय ग्रामीणों ने कहा कि इस कार्यक्रम का आवाहन इस गांव की बहू ने किया है तो हम लोगों का साथ देना लाजमी है। सबसे बड़ी बात यह थी कि इस अभियान में सहयोग देने के लिए बाढ़ के कोने-कोने से लोग आए हुए थे। रामनगर दियारा से की गई यह शुरुआत बिहारी बीघा पहुंचते-पहुंचते जनसैलाब में बदल गई। लोगों की अपार भीड़ को संबोधित करते हुए मधु सिंह ने कोरोना के प्रति सावधानी बरतने की सलाह दी। साथ ही सरकार पर आरोप लगाया कि इस कोरोना काल में चुनाव कराना लोगों के जान से खेलना है।

राजनीति में आने का उद्देश्य जनसेवा है

इस अवसर पर उन्होंने कोरोना से लड़ने में बाढ़ विधानसभा के जनता के बीच की गई मदद को गिनाया। उन्होंने कहा कि राजनीति में आने का उद्देश्य उनका जनसेवा है और उसी भावना से प्रेरित होकर उन्होंने यह कोविड-19 जागरुकता अभियान चलाया। अपने संकल्प को फिर से दोहराया कि स्वर्गीय दादाजी पूर्व विधायक पप्पू बाबू के नक्शे कदम पर चल कर बाढ़ की किस्मत में विकास की एक नई इबारत लिख देंगी।

रामनगर दियारा से बिहारी बीघा के दौरान दर्जनों जगहों पर लोगों ने उन्हें फूल मालाओं से लाद दिया और मधु सिंह जिंदाबाद, बाढ़ विधायक कैसा हो मधु सिंह जैसा हो, के नारों से उनका स्वागत किया। कार्यक्रम स्थल बिहारी बीघा का माहौल ही कुछ अलग था। एक सुर से जनता पिछले तीन-चार सालों में मधु सिंह द्वारा किए गए सामाजिक कार्यों की सराहना कर रही थी।

लोहा विरोधी भी दबी जुबान से मान रहे

जनता ने साफ संदेश दिया की मधु सिंह ही बाढ़ विधानसभा में सत्ता परिवर्तन की लहर की सच्ची प्रतीक बन सकती हैं। गाड़ियों और मोटरसाइकिल की खत्म ना होने वाली कतार उनकी लोकप्रियता का चीख-चीख कर बखान कर रही थी। इस कार्यक्रम का लोहा विरोधी भी दबी जुबान से मान रहे थे।

बिहारी बीघा में आयोजित सभा की अध्यक्षता सेवानिवृत्त शिक्षक चंदेश्वर सिंह, मंच संचालन वरिष्ठ कांग्रेस नेता हेमंत कुमार, स्वागत भाषण वरिष्ठ राजद नेता सकलदेव राय और धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ राजद नेता परमानंद पासवान ने दिया। वक्ताओं की लंबी कतार थी और सबने कहा कि पिछले तीन-चार सालों की राजनीतिक जीवन में मधु सिंह ने समाज की जबरदस्त सेवा की है। चाहे वह रामनगर दियारा में बाढ़ पीड़ितों की मदद की बात हो या फिर कोरोना काल में दस- पंद्रह हजार मास्क बांटकर और हजारों परिवारों को राशन उपलब्ध करा कर मदद करने की बात हो।

12000 प्राथमिक सदस्य बनाया

चुनाव लड़ने की बात पर मधु सिंह ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को मेरे कार्यों के बारे में अच्छी तरह से पता है। उन्होंने दावा किया कि पार्टी के सदस्यता अभियान में उन्होंने 12000 प्राथमिक सदस्य बनाया और शायद बाढ़ विधानसभा में कोई अन्य नेता उसके आगे तक भी नहीं पहुंचा होगा। सबसे बड़ी बात उन्होंने यह कहा कि आज जो जनता की अदालत लगी हुई है उसमें आप खुद पता कीजिए की मधु सिंह के लिए इनके दिल में क्या जगह है। इस जन सैलाब से उनका मनोबल दुगना हो गया है और उन्हें यह विश्वास है कि आगामी विधानसभा चुनाव में बाढ़ विधानसभा में परिवर्तन निश्चित है।

कार्यक्रम में बाढ़ विधानसभा के कोने-कोने से दस हजार से ऊपर लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम में शामिल होने वालों में मुख्य रूप से कर जाम से श्री जोगी सिंह और श्री आनंद सिंह, चंद शेखर विचार मंच के प्रेम शंकर सिंह चौहान, दक्षिणीचक अरुण शर्मा, बंद करके नरेश राय, छपेरातर के रघुवंशमणि यादव, सहनौरा से अखिलेश सिंह, रामनगर दियारा से तो हजारों लोग थे। स्थानीय ग्रामीणों में मनटून सिंह, जीतू सिंह पूर्व मुखिया प्रत्याशी नवीन सिंह सहित हजारों लोग स्वागत में उपस्थित थे। मधु सिंह ने कहा कि यह समर्थन अभूतपूर्व है और दादाजी स्वर्गीय पप्पू बाबू की लोकप्रियता के एहसास दिला रहा है।उन्होंने बाढ़ विधानसभा के कोने-कोने से आए हुए सभी सम्मानित जनों के प्रति हृदय से आभार जताया।

 

निजी संवाददाता, बाढ़

Related posts