दीदीजी फाउंडेशन के संस्कारशाला में मनायी गयी महात्मा गांधी और लालबहादुर शास्त्री की जयंती

पटना, 02 अक्टूबर सामाजिक संगठन दीदीजी फाउंडेशन के संस्कारशाला में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती मनायी गयी।
कुरथौल के फुलझड़ी गार्डेन स्थित दीदीजी फाउंडेशन के संस्कारशाला में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं लालबहादुर शास्त्री के तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया, एवं उनकी सादगी एवं विचारधारा को आत्मसात करने का संकल्प दोहराया गया।

इस अवसर पर दीदीजी फाउंडेशन की संस्थापिका डा. नम्रता आनंद ने कहा कि महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता थे, जिन्होंने आजादी की जंग में भारतीयों को एक किया और अहिंसा के मार्ग पर चलकर देश को स्वतंत्रता दिलाने में अहम योगदान दिया। महात्मा गांधी (बापू) ने न केवल देश को आजादी दिलाने में अहम योगदान दिया, बल्कि पूरे विश्व को यह संदेश भी दिया कि अंहिसा से भी देश को आजादी दिलाई जा सकती है।

डा. नम्रता आनंद ने कहा, जय जवान..जय किसान का नारा देने वाले शास्त्री जी ने देश की स्वतंत्रता में सहयोग करने के साथ ही प्रधानमंत्री रहते हुए किसानों को आत्मनिर्भर बनाने एवं सेना को मजबूत करने के लिए बहुत से प्रयास किये।लाल बहादुर शास्त्री जी सादा जीवन, सरल स्वभाव, ईमानदारी और अपनी दृढ़ता के लिए जाने जाते थे।

महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री पूरे देश के लिए पूज्यणीय हैं। दोनों की आजादी की लड़ाई में अहम भूमिका थी। युवाओं को दोनों के पदचिह्नों पर चलने की आवश्यकता है। राष्ट्र उनके योगदान को कभी भूला नहीं सकता। उनके जीवन से सबको सीख लेनी चाहिए। उनके बताए रास्ते पर चलने की जरूरत है।
इस अवसर पर समाजसेवी मिथिलेश सिंह, रंजीत ठाकुर समेत कई लोग मौजूद थे।

Related posts